Monday, November 13, 2017

Pali is as old as Chalcolithic age

भाषा से इतिहास को पकड़ा जा सकता है। जब लोहे की खोज नहीं हुई थी, तब लोग ताँबे को लोहा कहा करते थे। जो लोह रंग का हो, वह लोहा है। जिसका रंग लोहित हो, वह लोहा है। जिसका रंग लहू जैसा हो, वह लोहा है। पालि में आज भी ताँबे को लोह कहा जाता है। मतलब कि पालि तब की है, जब ताँबे को लोहा कहा जाता था। निष्कर्ष यह कि पालि की जड़ें ताम्रयुगीन हैं
Post a Comment

Markets Live